समाजवादी पार्टी को प्रदेश में किसी भी अंाधी का डर नहीं -पं0 ओम प्रकाश मिश्रा.. नगर अध्यक्ष समाजवादी

Posted by: Publlic Akrosh ADMIN Saturday 19th of September 2015 01:42:55 PM

ओम प्रकाश जी, आपका समाजवादी पार्टी से कितना पुराना नाता है और नगर अध्यक्ष बनने का श्रेय आप किसे देते हैं ?
सबसे पहले तो मैं ये बताना चाहूँगा कि आज पूरे हिन्दुस्तान के अन्दर अगर किसी कार्यकर्ता को नेता बनाने की क्षमता कोई रखता है, तो उस नेता का नाम माननीय मुलायम सिंह यादव है और उस यशस्वी मुख्यमंत्री और नौजवानों के नेता का नाम माननीय अखिलेश यादव है। 1992 में एक साधारण कार्यकर्ता के रूप में हम समाजवादी पार्टी में शामिल हुए थे और यूथ में पहले राष्ट्रीय कार्यसमिति का सदस्य मानोनीत हुए। उनके बाद हम दो बार राष्ट्रीय सचिव और महासचिव रहे। 12 सल तक हम समाजवादी युवाजन सभा में राष्ट्रीय पदाधिकारी रहे और 2012 में हम किदवई नगर विधानसभा से सपा कि ओर से प्रत्याशी रहे। बहुत जनसमर्थन मिला, लेकिन दुर्भाग्यवश हम जीत नहीं पाये और अभी 23 जून 2014 को माननीय मुख्यमंत्री जी ने हमें कानपुर महानगर का अध्यक्ष बना दिया है। कानपुर महानगर में  माननीय नेता जी व माननीय अखिलेश जी द्वारा बनाये हुए और सपा के संविधान के अन्तर्गत हम इसको आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं। 
समाजवादी पार्टी कानपुर में जिस स्थिति में होनी चाहिए वो नहीं थी, लेकिन आपके कार्यकाल से क्या लग रहा है कि उस स्थिति में कुछ सुधार आया है या वहीं पर हैं ?
देखिए, हमारे कार्यकाल में समाजवादी पार्टी कहां तक पहुंची है, इसका आकंलन तो आप जनता से कर सकते हैं या हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कर सकते हैं। हमारा एक लक्ष्य है कि माननीय श्री अखिलेश यादव जी ने हमें जो जिम्मेदारी दी है, पूरी ईमानदारी के साथ, हम उसका निर्वाहन करेंगे और जब हम मेहनत एवं ईमानादारी के साथ काम करेगें, तो निश्चित रूप से हमें नतीजे भी अच्छे मिलगें। 
मिश्रा जी, जब आप चुनाव लड़े थे उस वक्त सपा के नगर अध्यक्ष की कमान किसी और के हाथ में थी। क्या उनसे अपेक्षित सहयोग मिला था आपको ? अगर नहीं, तो ऐसी क्या कमियां दिखीं आपको जिनको आप दूर करना चाहेगें इस पद पर रह कर ?
वैसे तो मैंने पार्टी में एक कार्यकर्ता के रूप मंे कार्य किया है, तो ग्रास रूट पे सभी लोग हमारे परिचित थे और जो संगठन है वो सारे कार्यकर्ता हमारे साथ में थे। तो हमें किसी की बहुत ज्यादा जरूरत नहीं पड़ी लेकिन जो संगठन का सहयोग होना चाहिए था, वो नहीं था।
आज आप नगर अध्यक्ष है और 2017 में फिर से चुनाव होने वाले हैं इसमें आपका उन प्रत्याशियों को कितना सहयोग रहेगा ?
अभी हाल ही में हमने अपना संगठन घोषित किया है। जिसमें नगर संगठन के साथ विधान सभा अध्यक्ष भी बनाये हैं। अब हम विधानसभा और वाॅर्ड की कमेटी बना रहे हैं। इसके अलावा हमारे 14 फ्रंटल है 4 यूथ विंग है महिला सभा, अधिवक्ता सभा, मजदूर सभा व सैनिक प्रकोष्ठ मिलकर हम इतना बड़ा संगठन तैयार कर देगें कि शहर में हमारे लगभग 45000 पदाधिकारी होगें और जब हमारे इतने पदाधिकारी होगें तो निश्चित रूप से हमारा संगठन ग्रास रूट लेविल पर आपको दिखेगा। 
2017 में होने वाले चुनाव को लेकर आप संगठन में जो पदाधिकारी बना रहे है। उनके लिये कोई खास निर्देश है जिससे संगठन के साथ पार्टी भी मजबूत हो सके ?
अब हम लोग क्रम बद्ध तरीके से काम कर रहे है। हम विधानसभा अध्यक्ष और वार्ड अध्यक्ष बनाकर पूरा संगठन तैयार करेंगे। जिसके बाद हम एक विधानसभा सम्मेलन, वार्ड सम्मेलन व जिला सम्मेलन करेगें। जिससे पूरी पार्टी रोड पर दिखेगी और 2017 में माननीय अखिलेश यादव के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के अन्दर सरकार बनेगी और कानपुर महानगर में समाजवादी पार्टी नम्बर 1 की पार्टी बनेगी। 
आज मोदी की आंधी है। ऐसा कहा जाता है। क्या इससे क्षेत्रीय पार्टियों को कोई खतरा उत्पन्न आप देख रहे है ?
देखिए! आँधी किसी की नहीं ये सिर्फ मीडिया द्वारा भ्रम फैलाया जा रहा हैं। समाज के अन्दर सिर्फ तीन तरीके की व्यवस्थायें प्रचलित है। एक तो लोकतांत्रिक, दूसरी समाजवाद के द्वारा और एक फांसीवादी तरीका और माननीय मोदी जी ने फांसीवादी तरीका अपना करके हिन्दुस्तान की गद्दी पर कब्जा किया है। मैं समझता हूँ फांसीवादी तरीका बहुत दिनों तक नहीं चलता है और जनता इस बात को समझ भी रही है। लोकसभा चुनाव के बाद अगर आप देखें तो 12 सीटों पर उपचुनाव हुये हैं प्रदेश के अन्दर जिसमें 9 सीटें हमने जीती है और खास बात यह रही कि 12 में से 11 सीटों पर बीजेपी का कब्जा था जिसमें 8 सपा की झोली में आयीं। क्योंकि जो विकास का कार्य अखिलेश जी ने किया है वह शायद भारत के किसी भी प्रदेश के मुख्यमंत्री ने नहीं किया होगा। 
समाजवादी पार्टी अपने किये हुए कार्यों को जनता तक पहुंचा नहीं पाती, क्यों ?
बिल्कुल सही कहा आपने। जो काम मुख्यमंत्री जी और पार्टी के द्वारा किया जाते हैं, हम उसको भुना नहीं पाते हैं। हमें उतने वोट नहीं मिलते है। 
शहर में और अन्य पार्टीयों के विधायक भी हैं। शहर के विकास में उनका कितना योगदान मानते है ? 
आप सपा के विधायकों को छोड़ दें तो किसी ने भी जनता के लिए कुछ नहीं किया। हमारे क्षेत्र के ही विधायक के पास तो समय नहीं है। वो पूंजीपति है उन्होंने इतना काला धन इकठ्ठा कर लिया है वे उसी को संभालने में लगे रहते हैं तो वे जनता का क्या काम करेगें। काम तो सिर्फ समाजवादी पार्टी कर रही है। आज आप कानपुर शहर में देखिए रिवर फण्ड के लिये ही माननीय मुख्यमंत्री जी ने 100 करोड़ से ज्यादा रूपया दिया है। नवीन मार्केट के सुन्दीकरण के लिये 28 करोड़ रूपया दिया है। दक्षिण की सड़कों का विकास के सिलसिले में सिर्फ ट्रांसपोर्ट नगर के लिये हालही में मुख्यमंत्री जी 8 करोड़ रूपया दिया है। 
शहर के लिये इतना फंड अखिलेश जी ने दिया है तो ये चीजे तो आप जनता के सामने ला सकते है ?
जी! बिल्कुल जनता को यह बताने के लिये हमने शहर में 100 होल्डिंगस लगवा रखी है और धीरे-धीरे हम अपने किये हुये कार्यों को मीडिया के माध्यम से जनता तक ला रहे है। मेरा अपने मीडिया के साथियों से अनुरोध है कि अगर हम काम करते है तो मीडिया इसे जनता तक जरूर पहुंचाये। क्योंकि मीडिया अपनी बात जनता तक पहुँचाने का सशक्त माध्यम है।
अगर आप विकास करेगें तो मीडिया इसको जरूर दिखायेंगी लेकिन साथ में आपको इसे बताना भी होगा ?
उत्तर- बिल्कुल हम जरूर बतायेंगे जल्द हम मीडिया सेल की शुरूआत कानपुर से करने जा रहे है जिससे पार्टी के द्वारा किये हुये कार्यांे को मीडिया के माध्यम से जनता तक समय से और आसानी से पहुंचाया जा सके।

 

Leave a Comment