SP ने जारी की चौथी लिस्ट, लखनऊ कैंट से चुनावी दंगल में उतरीं मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव

Posted by: Publlic Akrosh ADMIN Tuesday 24th of January 2017 04:11:00 PM

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी ने आज 37 कैंडिडेट्स की अपनी चौथी लिस्ट जारी कर दी है. इस लिस्ट में जहां मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव को लखनऊ कैंट सीट से तो वहीं वाराणसी के सेवापुरी से सुरेंद्र सिंह पटेल को टिकट दिया गया है.

मुलायम की छोटी बहू अपर्णा को लखनऊ कैंट से टिकट

एसपी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल द्वारा जारी इस सूची में वाराणसी, चंदौली, गाजीपुर, जौनपुर, बलिया, कन्नौज, लखनउ, फतेहपुर, संत कबीर नगर, गोरखपुर तथा आजमगढ़ जिलों की कुल 37 सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा की गयी. एसपी संस्थापक मुलायम की छोटी बहू अपर्णा को लखनऊ कैंट सीट से जबकि गाजीपुर से मौजूदा विधायक एवं मंत्री विजय मिश्र की जगह राजेश कुशवाहा को टिकट दिया गया है.

गाजीपुर की जहूराबाद सीट से महेन्द्र चौहान को टिकट

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के प्रतिद्वंद्वी रहे उनके चाचा शिवपाल यादव की करीबी पूर्व मंत्री शादाब फातिमा का गाजीपुर की जहूराबाद सीट से टिकट काट दिया गया है. इस सीट पर महेन्द्र चौहान को टिकट दिया गया है. एसपी ने आजमगढ़ की गोपालपुर सीट पर अपना प्रत्याशी बदलते हुए मौजूदा विधायक एवं प्रदेश के राज्यमंत्री वसीम अहमद के स्थान पर नफीस अहमद को टिकट दिया है.

हालांकि, एसपी अब तक 324 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है, लेकिन कल कांग्रेस के साथ हुए गठबंधन के बाद वह अपने सहयोगी दल के प्रत्याशियों के लिये अपने 26 उम्मीदवारों को वापस लेगी. कांग्रेस के साथ हुए गठबंधन के तहत एसपी राज्य विधानसभा की 403 में से 298 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

अबतक कुल 300 से अधिक उम्मीदवारों का ऐलान

इसके साथ ही समाजवादी पार्टी अबतक कुल 300 से अधिक उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर चुकी है. आपको बता दें कि इससे पहले पार्टी शुक्रवार को 191 कैंडिडे्टस की पहली लिस्ट, शुक्रवार शाम को 18 कैंडिडेट्स की दूसरी लिस्ट, जबाकि रविवार को 77 कैंडिडेट्स की तीसरी लिस्ट जारी कर चुकी है.

298+105 के फॉर्मूले के तहत हुआ गठंबधन

इस तरह समाजवादी पार्टी की तरफ से अबतक कुल 325 उम्मीदवारों का ऐलान किया जा चुका है. जबकि यूपी चुनाव को लेकर एसपी का गठंबधन 298+105 के फॉर्मूले के तहत हुआ है. दरअसल एसपी और कांग्रेस में गठबंधन का ऐलान रविवार को ही हुआ है. ऐसी स्थिति में या तो अखिलेश यादव अपने 27 उम्मीदवार वापस ले सकते हैं. या फिर ये कैंडिडेट्स कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ सकते हैं.

Leave a Comment