सीएम के शहर आने पर सनसनीखेज घटनाओं का अध्ययन कर रहे अधिकारी

Posted by: मुबीन हुसैन Saturday 20th of May 2017 05:31:05 PM

सीएम बनने के बाद पहली बार शहर आ रहे आदित्यनाथ योगी के तेवर को देखते हुए अधिकारी अपने-अपने विभाग की खामियों को दूर करने में जुटे हैं। लेकिन सबसे ज्यादा वह परेशान है जिनके यहां सनसनीखेज घटनाएं घटित हुई है। इसी के चलते अपने बचाव के लिए अधिकारी बराबर घटनाओं का अध्ययन करने में जुटे हुए हैं। 


सीएम आदित्यनाथ योगी के शनिवार को कानपुर दौरे पर आ रहें हैं और केडीए में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे। जिसको लेकर अधिकारियों में खासी गहमागहमी है। जिला प्रशासन व पुलिस सुरक्षा व्यवस्था की तैयारियां पूरी कर ली है। साथ ही विभागीय अधिकारी अपने विभाग की उन सभी खमियों को दुरूस्त करने में जुटे है जिससे अपने को खतरा महसूस कर रहें है। सूत्रों के मुताबिक पंचायत विभाग, समाज कल्याण, परियोजना विभाग, लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के यहां रात भर गहमागहमी बनी रही यही हाल पूरा दिनभर रहा। इन अधिकारियों के चेहरे पर सीएम का खौफ साफ देखा जा रहा है।
 इसके साथ ही पुलिस विभाग में कानून व्यवस्था को लेकर सबसे ज्यादा बेचैनी देखी जा रही है। एसएसपी सोनिया सिंह खुद दिनरात एक किए हुए है। तो वहीं सनसनीखेज घटनाएं जिन क्षेत्रों में हुई है वहां के पुलिस अधिकारी सबसे अधिक परेशान है। उदाहरण के तौर पर नरवल थाना में सर्राफा कारोबारी के साथ लूट, शिवराजपुर में सर्राफा कारोबारी के साथ लूट। 

इसके अलावा नवाबगंज, अर्मापुर, कल्याणपुर में बलात्कार की घटनाओं को देखते हुए पुलिस हरकत में बनी हुई है। इसके अलावा सीएम के गड्ढा मुक्त सड़क अभियान को देखते हुए केडीए, नगर निगम व लोक निर्माण विभाग फाइलें दुरूस्त करने में जुटा हुआ है। नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने बताया कि सीएम के शहर आने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सुरक्षा को लेकर डीएम व एसएसपी के साथ बैठक कर पूरी रणनीति बना ली गई है। 


सीएम इनकी करेगें समीक्षा

सीएम आदित्यनाथ योगी वैसे तो किसी भी विभाग की समीक्षा कर सकते हैं। पर सूत्रों के मुताबिक सीएम 31 बिन्दुओं पर समीक्षा करेंगे। जघन्य व सनसनीखेज घटनाओं के स्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों के त्वरित भ्रमण, सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त, तहसील दिवस, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति, आलू का उचित मूल्य किसानों को दिलाना, साफ-सफाई, शिक्षा की स्थिति व शिक्षकों की स्कूल में उपस्थिति, शौचालय निर्माण व खुले में शौच समाप्त करने की व्यवस्था, सांसद आदर्श गांव, नमामि गंगे योजना के कार्य, जलभराव की तैयारियां,  ई-टेडरिंग, बाढ़ से निपटने की तैयारियां, आईपीडीएस योजना, आपदा राहत राशि का समय से भुगतान आदि की स्थितियों की समीक्षा करेंगे। 
दूध के व्यंजन का होगा लंच

जानकारी के मुताबिक सीएम कानपुर विकास प्राधिकरण में ही लंच करेंगे। इसी के चलते अधिकारियों ने उनका मेन्यू सिक्योरिटी स्टाफ से मांगा है। बताया जा रहा है कि स्टाफ की तरफ से जो मेन्यू आया है उसमें ज्यादातर व्यंजन दूध के हैं। इसके अलावा फल से बने आइटम भी रखे जाएंगे। तो वहीं खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों को भी लंच को चेक करने के लिए लगाया गया है। 


केडीए का कोना-कोना चकाचक

सीएम की समीक्षा बैठक केडीए में आयोजित होनी है। जिसके चलते लगातार तीन दिनों से यहां पर साफ-सफाई की व्यवस्था हो रही है। जगह-जगह मजदूर साफ-सफाई में जुटे हुए है। यहां का लगभग एक-एक कोना चकाचक किया जा रहा है। यहां तक कर्मचारी से लेकर अधिकारी साफ सफाई को लेकर मजदूरों के साथ एक टांग पर खड़े दिखाई दे रहें है। इसके अलावा पास में ही गंदगी से जूझने वाला हैलट अस्पताल में भी साफ सफाई की तैयारियां जोरों पर हैं। दीवारों की धुलाई कर उन पर रंग रोगन किया जा रहा है। मरीजों के लिए नए चादर मंगाए जा रहे हैं। 


सीएसए में सीएम का उतरेगा उडनखटोला 

नगर आयुक्त ने बताया कि सीएम का हेलीकाप्टर 3ः10 मिनट पर सीएसए के हेलीपैड पर उतरेगा। 3ः15 पर वहां से सीएम केडीए के लिए निकलेगें और 3ः30 पर केडीए सभागार में अधिकारियों से बातचीत करेंगे। चार बजे कानपुर मंडलीय समीक्षा शुरू होगी, छह बजे तक मंडलीय समीक्षा चलेगी। इसके बाद सवा छह बजे सीएसए से अमौसी एअरपोर्ट के लिए रवाना हो जाएंगे। 


एसएसपी सहित चार एसपी संभालेगें सुरक्षा की जिम्मेदारी

एसएसपी सोनिया सिंह ने बताया कि सीएसए में सीएम की सुरक्षा व्यवस्था तीन चक्रों में होगी। जिसमें अंदर के चक्र में सीआईएसएफ और पीएसी तैनात रहेगी। 

इसके बाद बीच के घेरे में पीएसी और बाहरी घेरे में पीएसी और पुलिस अफसरों की तैनाती रहेगी। इसके बाद केडीए में सुरक्षा घेरा चार चक्रों का हो जाएगा। एटीएस कमाडोंज घेरे से बाहर मुख्यमंत्री की फ्लीट के आसपास मौजूद रहेंगे और उनके साथ बराबर मूवमेंट करेंगे। सुरक्षा को देखते हुए 500 सिपाही, 40 दरोगा, 20 इंस्पेक्टर, 10 सीओ, चार एसपी और एसएसपी खुद तैनात रहेंगी

Leave a Comment