कानपुर की पाण्डू नदी में तीन मासूम डूबे, तीनो की मौत

Posted by: Publlic Akrosh ADMIN Wednesday 31st of August 2016 06:59:58 AM

लिम्का बुक में अपना नाम दर्ज करा चुकी जलपरी श्रृद्धा से प्रभावित होकर परिवार को बिना बताये तीन मासूम मंगलवार को पाण्डू नदी में तैराकी करने पहुंचे। जहां उफनाती नदी के बहाव में तीनों साथी डूब गये। जानकारी पर पहुंची दो थानों की पुलिस ने गोताखोरों की मदद से डूबे बच्चों की तलाश शुरु करवा दी।  

 पनकी थानाक्षेत्र स्थित पनकी पड़ाव इलाके में रहने वाले सुनील के दो बेटे दिव्यांशु (10) हिमांशु (12) है। परिजनों ने बताया कि दोनों बेटे मंगलवार को स्कूल से घर आये। ड्रेस चेंज करने के बाद दोनों भाई पड़ोस में रहने वाले अजीत के बेटे लकी के घर किताब लेने की बात कहकर घर से निकले। काफी देर तक बच्चों के घर न आने पर परिजन पतालगाने के लिए पड़ोसी के घर पहुंचे, तो पता चला कि तीनों बच्चे किसी दोस्त से मिलने की बात कहकर घर से निकले गए। देर शाम तक बच्चों के न आने पर घरवाले परेशान हो गये और इलाकाई लोगों के घर जाकर देखा, लेकिन कहीं भी उनका पता नहीं चल सका। बेटों के न मिलने पर परिजन गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने के लिए थाने पहुंचे। इस बीचकिसी ने घरवालों को फोन करके बताया कि तीन मासूम बच्चे सचेंडी से गुजर रही पांडू नदी में डूबे जाने की जानकारी हुई है। मामले की जानकारी होने पर घरवालें नदी के किनारे पहुंचे। बच्चों के कपडे़ देख परिजनों ने रोना-पीटना शुरु कर दिया। इधर घटना की जानकारी होने पर सचेंडी व पनकी समेत कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। पुलिस नेरो रहे परिवार को शांत कराया और गोताखोरों की मदद से डूबे छात्रों की नदी में तलाश शुरु करवा दी है।बुधवार सवेरे तीनो सवो  को निकाल लिया गया |

Leave a Comment