स्टाइल स्टेटमेंट टैटू के दीवाने यंगस्टर्स

Posted by: Publlic Akrosh ADMIN Tuesday 6th of October 2015 04:22:52 PM

शरीर पर टैटू बनवाने का चलन हजारों साल से है। प्राचीन काल में कबीलों में रहने वाले लोग टैटू का प्रयोग इसलिए करते थे ताकि आसानी से यह पता चल सके कि कौन-सा व्यक्ति किस कबीले से संबंध रखता है। अब इस कला ने फैशन का रूप धारण कर लिया है। जब मौका टशन दिखाने का हो तो स्टाइलिश टैटूज़ का अपना ही जलवा है। ग्लैमर वर्ल्ड में भी टैटू गुदवाना इन दिनों ट्रैंड में है। हॉलीवुड सैलिब्रिटी एंजेलीना जोली से लेकर डेविड बेखम तक टैटू के दीवाने हैं। उनके टैटू देखकर कॉलेज स्टूडैंट्स में भी शो अॉफ करने की होड़ लगी हुई है। 

आज का युवा इसे फैशन स्टेटमेंट मानता है, कुछ लोगों के लिए टैटू है अपनों की यादों को संजोने का तरीका. तो कुछ अध्यात्म से जुड़ कर,कोई अपनी श्रद्धा से तो कोई अपने प्यार का इजहार करने के लिए टैटू बनवा रहे हैं। अमेरिका में टैटू का सबसे अधिक क्रेज है। यहां वर्ष 2012 में ही 21 फीसदी लोगों ने टैटू बनवाया था। खास बात यह है कि अमेरिका में पुरुषों से ज्यादा महिलाएं टैटू बनवाती हैं। लड़कियों को लगता है कि टैटू से वे हॉट और अपीलिंग नज़र आएंगी। बिंदास लड़कियां  ब्रैस्ट, नाभि और जांघ पर टैटू बनवाकर प्रदर्शन का शौक पूरा कर रही हैं। 

भीड़ में सबसे अलग अपनी पहचान बनाने की ख्वाहिश रखने वाले युवाओं के 'स्टाइल स्टेटमेंट' का प्रतीक बन गया है थ्री-डी टैटू। थ्री-डी इफैक्ट के साथ ब्लैक, ग्रीन, ब्लू, रैड, यैलो जैसे ब्राइट कलर के टैटू और उनमें डिजाइन को स्टाइल आइकन माना जा रहा है। थ्री-डी टैटू की खासियत यह है कि इसका लुक बहुत हद तक ऑरिजनल लगता है। टैटू को मशीन की मदद से बनाया जाता है, जिसमें बहुत दर्द होता है। लेकिन टैटू गुदवाने के शौकीन युवाओं को गुदवाने पर उतना दर्द नहीं होता, जितनी खुशी इन्हें इसके बाद होती है। 

कवरअप टैटू

यंगस्टर्स इन दिनों कवरअप टैटू करा रहे हैं। यानी नया टैटू बनवाने की बजाय पुराने टैटू को ही कलर्स या डिज़ाइन में बदलाव कर उनका लुक चेंज कर रहे हैं। ये कमर, पीठ, कूल्हे, पेट, बाजू और एड़ी पर भी टैटू गुदवा रहे हैं। बिंदास लड़कियां  ब्रैस्ट, नाभि और जांघ पर टैटू बनवाकर प्रदर्शन का शौक पूरा कर रही हैं। इस तरह के टैटू पर करीब पांच हजार रुपये का खर्च होता है।

रियलिस्टिक टैटू

यंगस्टर्स में फोटो रियलिस्टिक टैटू का क्रेज़ सिर चढ़कर बोल रहा है। इसमें आप अपनी पसंद की किसी भी तस्वीर को हूबहू आप के शरीर के किसी भी हिस्से पर डिजाइन कर करवा सकते हैं। इसका लुक थ्री-डी इफैक्ट से भी ज्यादा अच्छा और रियल नजर आता है। ये चित्र बेहद भव्य होते हैं और इन्हें बनाने में काफ़ी समय लगता है। छोटे साइज के रियलिस्टिक टैटू को बनाने में करीब दो से चार दिन का समय लगता है और बड़े टैटू को बनाने में करीब डेढ़ से 6 महीने तक का समय लग जाता है। इनकी कीमत 35 हजार रुपए से शुरू होकर 2 लाख रुपए तक होती है।

डॉटेड टैटू 

डॉटेड टैटू ज्यॉमैट्रिकल पैटर्न बेस्ड है। इंटेलेक्चुअल लोग इसके साथ खूब एक्सपेरिमेंट कर रहे हैं। यूथ इसका टशन इनोवेटिव डिजाइंस के साथ दिखा रहा है। इन्हें किसी भी शेप में डिजाइन किया जा सकता है। शेडिंग में थोडा डिफरेंस लाते हुए इन्हें थ्री-डी अपीयरेंस भी दी जा सकती है और इस पैटर्न में क्यूबिकल शेप सबसे ज्यादा डिमांड में है। ये ज्यादातर ब्लैक इंक से बनाए जाते हैं, कलर्स का यूज कम होता है। छोटे साइज़ का टैटू दो से तीन हज़ार रुपये में बन जाता है।

Leave a Comment