सूर्यास्‍त के आसपास भोजन करने के क्‍या हैं फायदे

Posted by: Publlic Akrosh ADMIN Saturday 17th of October 2015 12:54:14 PM

सेहत के दृष्टिकोण से रात का भोजन जल्‍दी कर लेने के कई फायदे हैं। हालांकि, आजकल की व्‍यस्‍त जिंदगी में लोग रात का भोजन देर से करते हैं, जिसका सेहत पर दुष्‍प्रभाव पड़ता है। आहार विशेषज्ञों के अनुसार, रात का खाना जल्दी खाना चाहिए या सोने के दो घंटे पूर्व खाएं। हमेशा हल्का व सात्विक भोजन लेना चाहिए। कोशिश यह करनी चाहिए कि सूर्यास्‍त के आसपास हमें रात का भोजन ग्रहण कर लेना चाहिए। बताया जाता है कि सूर्यास्त के साथ शरीर की फैट जलाने की शक्ति गायब हो जाती है। इसलिए अक्‍सर बड़े बुजुर्ग भी कहते हैं कि सुबह का नाश्ता जमकर, दोपहर का भोजन उससे कम व रात का भोजन बिलकुल कम लें। आयुर्वेद के अनुसार, प्रकृति और सूर्य की रोशनी से हमारे भोजन चक्र का गहरा संबंध है। यदि रात का भोजन जल्‍दी ग्रहण कर लिया जाए तो कई बीमारियों से बचा जा सकता है।मोटापे से बचाव : डिनर (रात का भोजन) अक्‍सर दिनभर का अंतिम भोजन होता है। दिन ढलते ही शरीर की प्रक्रिया और मेटाबोलिज्‍म धीमा हो जाता है। यदि आप देर से खाते हैं, तो वह भोजन ऊर्जा में पूरी तरह तब्‍दील नहीं होता है। देर से किया भोजन फैट को बढ़ाता है, जिससे वजन बढ़ने लगता है।

गैस्‍ट्रोइन्‍टेस्‍टाइनल समस्‍या में कमी: जो व्‍यक्ति देर से भोजन करते हैं, उनमें पाचनतंत्र की समस्‍या जैसे एसिडिटी, छाती में जलन आदि उत्‍पन्‍न होते हैं। जब आप देर से सोने जाते हैं तो पेट का अम्‍ल बढ़ता है और यह समस्‍या को बढ़ाता है। जल्‍दी भोजन कर लेने से पाचन तंत्र दुरुस्‍त रहता है।

बेहतर नींद : देर से भोजन के चलते खराब पाचन की क्रिया होती है, जिसका सीधा असर नींद पर पड़ता है। शरीर के तंत्र में नवऊर्जा : रात का भोजन समय पर कर लेने से ब्रेन और दूसरे अंगों को फिर से स्फूर्तिदायक होने में मदद मिलती है। अगले दिन तरोताजा महसूस करना: शरीर का सूर्योदय और सूर्यास्‍त से सीधा संबंध होता है। जब आप अपने शरीर को इसके अनुकूल काम करने देते हैं तो आलस्‍य और थकान आपसे हमेशा दूर रहेगी।

Leave a Comment