लौटने लगी म्युचुअल फंड़ बाजार में रौनक

Posted by: अनुज निगम Wednesday 12th of November 2014 10:44:51 AM

मुंबई । छह साल के लंबे इंतजार के बाद (लीमन संरट के बाद) भारतीय इक्विटी म्युचुअल फंड में बेहतरी नजर आ रही है। स्थानीय निवेशकों की तरफ से हुए निवेश की बदौलत इन योजनाओं में रिकॉर्ड निवेश हुआ है, जो दूसरा सबसे बड़ा रिकॉर्ड है। यह निवेश वित्त वर्ष महज 7 महीने की अवधि में हुआ है।  अप्रैल-अक्तूबर के दौरान इक्विटी योजनाओं में कुल शुद्ध निवेश 38,770 करोड़ रुपए रहा है। इससे पहले साल 2007-08 में इस क्षेत्र में करीब 47,000 करोड़ रुपए का निवेश हुआ था, जब वैश्विक वित्तिय बाजार 1930 की आर्थिक मंदी के बाद सबसे बड़ी गिरावट की कगार पर था।   इससे पहले उद्योग ने 2005-06 में इक्विटी में तेजी के दौर में 36,675 करोड़ रुपए का निवेश हासिल किया था। हालांकि इस साल हर स्तर पार हो चुका है। दिलचस्प रूप से इस वित्त वर्ष में 5 महीने और बचे हैं और इक्विटी एमएफ में निवेश की रफ्तार को देखते हुए लगता है कि साल 2014-15 संपत्ति हासिल करने के मामले में 2007-08 को पीछे छोड़ देगा।   
देश के अग्रणी फंड हाऊस एच.डी.एफ.सी म्युचुअल फंड के प्रबंध निदेशक मिलिंद बर्वे ने कहा, ''एक संपत्ति वर्ग के तौर पर इक्विटी में स्पष्ट रूप से मजबूत रिर्टन मिल रहा है। उद्योग में इस तरह का निवेश 6-7 साल के अंतराल के बाद देखने को मिल रहा है। निवेशकों को तेजी से यह महसूस हो रहा है कि एक संपत्ति वर्ग के तौर पर कि वह इक्विटी को नहीं छोड़ सकते।  तेजी के दौर में मौका गंवाने को डर निवेशकों की तरफ से खाता खोलने में आई तेजी के रूप में प्रतिबिंबित हुआ है। अक्तूबर के आखिर में 7 लाख नए खाते खुले और इस तरह से इक्विटी निवेशकों का आधार 3 करोड़ के पास पहुंच गया।  इसमें फंड उद्योग को इक्विटी ग्राहक आधार बढ़ाने में मदद की है और प्रमुख सूचकांको के नई ऊंचाई पहुंचने की बाबत बाजार में मौजूद साकारात्मक माहौल के चलते ऐसा हुआ है इसका मतलब यह हुआ कि इस उद्योग ने इस वित्त वर्ष में रोजाना औसतन 3500 ने इक्विटी खाते जोड़े। आई.सी.आई.सी.आई. प्रुडेंशियल म्युचुएअल फंड़ के एमडी व सीईओ निमेष शाह ने कहा, ''बी-15 शहरों में म्युचुअअल फंड़ के वितरण में हमने उत्साह में बढ़ौतरी देखी है। इक्विटी बाजार ने पिछले कुछ महीनों में काफी अच्छा रिर्टन दिया।  रिलायंस म्युचुअल फंड के सीईओ संदीप सिक्का ने कहा, ''मेरा मानना है कि म्युचुअल फंड उद्योग की बढ़त का बड़ा हिस्सा लंबी अवधि में बी-15 शहरों से आएगा। फिलहाल इक्विटी निवेश का करीब 16-20 फीसदी बी-15 शहरों से आ रहा है औऱ एसआईटी जैसी आसान योजनाओं के जरिए इन शहरों में खातों की संख्या बढ़ाने का लक्ष्य है।

Leave a Comment