फेक डिस्काउंट देती पकड़ी गई Flipkart

Posted by: Publlic Akrosh ADMIN Saturday 6th of June 2015 03:35:26 PM

ई-कॉमर्स कंपनियों से ख़रीदारी करने में लोगों की रुचि बढ़ती जा रही है। इस रुचि की एक वजह  प्रॉडक्ट पर मिलने वाला डिस्काउंट भी है। लेकिन ई-मार्केटिंग की दिग्गज कंपनी फ्लिपकार्ट के एक विज्ञापन ने डिस्काउंट के दावों पर सवाल खड़े किए हैं।

फ्लिपकार्ट के फ़ेसबुक पेज पर अपलोड एक फोटो में एक सेट सैंडल की कीमत 399 रुपए होने का दावा किया गया था। जबकि उसके ऊपर यह दाम 799 रुपए बतौर एमआरपी लिखा था। लेकिन बारीकी से देखने पर पता लगा कि 399 रुपए का दाम मैन्युफैक्चरर की ओर से दिया गया था। 

इस पर मनी शंकर सेन ने फ़ेसबुक पेज पर लिखा, डियर फ्लिपकार्ट टीम जब हम ऑनलाइन शॉपिंग के बारे में सोचते हैं तो पहले आपकी साइट जरूर चेक करते हैं। आपने बड़ी ब्रैंड वैल्यू भी बनाई है। लेकिन इस तरह के मामले भरोसा तोड़ते हैं।' इसके जवाब में फ्लिपकार्ट ने लिखा, 'गलती के लिए सॉरी। हमने इस गलती को तत्काल सुधार लिया है।' लेकिन इसके बाद लोगों के कमेंट फ्लिपकार्ट की इस चालाकी पर जारी रहे। 

शिवकिरण बोपन्ना ने लिखा, 'क्या सुधार लिया है, यही कि अब दाम 799 रुपए हैं।' जबकि यश चौधरी ने लिखा क्या हम इतनी बड़ी कंपनी से यही उम्मीद करते हैं। अनिल शर्मा ने फ्लिपकार्ट की खिंचाई करते हुए लिखा, 'यह किसी एक प्रॉडक्ट की बात नहीं है, इससे पहले भी सेलिंग प्राइस और एमआरपी को लेकर इस तरह का गड़बड़झाला देखा गया है।' 

बुरी तरह हुई फजीहत के बाद फ्लिपकार्ट ने इस प्रॉडक्ट को ही पेज से हटा दिया। गौरतलब है कि ई-कॉमर्स कंपनियां ग्राहकों को लुभाने के लिए इस तरह के लुभावने विज्ञापन जारी करती रहती हैं। लेकिन एक्स्पर्ट्स के मुताबिक इन पर बहुत भरोसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह ऑफर बहुत जल्दी ही वापस ले लिए जाते हैं।

Leave a Comment