नोटबंदी के तीन महीने पूरे

Posted by: संजय सिंह चौहान Wednesday 8th of February 2017 04:53:29 PM

नोटबंदी के आज पूरी तीन महीने पूरे हो रहे हैं. पीएम के दावे के मुताबिक नोटबंदी को लेकर सब हिसाब किताब ठीक चल रहा है और ये फैसला सही साबित हुआ है. वहीं, आज चालू वित्त वर्ष की अंतिम मौद्रिक समीक्षा के नतीजे भी आएंगे.
आज इस बात से भी पर्दा उठ जाएगा कि रिजर्व बैंक रेपो रेट में कटौती करेगा या नहीं. अगर ब्याज घटे तो आपकी ईएमआई भी कम हो सकती है.

क्या होता है रेपो रेट ?

रेपो रेट यानी नीतिगत ब्याज दर वो होती है जिस पर आरबीआई बैंकों को बहुत ही थोड़े समय के लिए कर्ज देता है. इस समय ये दर सवा छह फीसदी है, अक्टूबर में इसमें चौथाई फीसदी की कटौती की गई थी.

बैंको के पास नकदी ज्यादा लेकिन कर्ज की रफ्तार अब भी कम

नोटबंदी के बाद बैंको के पास नकदी काफी ज्यादा है, लेकिन कर्ज की रफ्तार अब भी कम है. ऐसे में ब्याज दर में कुछ और कमी करके कर्ज देने की रफ्तार बढ़ाने की कोशिश हो सकती है. इस बार उम्मीद है कि रेपो रेट में 0.25% तक कटौती हो सकती है.

हालांकि बैंक अभी सीधे-सीधे कुछ कहने से बच रहे हैं कि रेपो रेट घटा तो क्या वो भी अपनी ब्याज दरों में कटौती करेंगे या नहीं.

Leave a Comment