लॉयर्स चुनाव में अधिवक्‍ताओं ने डाले वोट, देर साम चुनाव रद्द की मांग हुआ हंगामा

Posted by: Publlic Akrosh ADMIN Thursday 4th of August 2016 11:38:02 AM

कानपुर। लॉयर्स एसोसिएशन के वार्षिक चुनाव में आज अधिवक्‍ताओं ने जोश दिखाते हुए अपने मताधिकार का प्रयोग किया। डीसी लॉ कॉलेज में आज हुए मतदान में पूर्व मंत्री व सांसद ने भी वोट देकर अपनी जिम्‍मेदारी निभाई।आज युवा अधिवक्‍ता पूरी तरह जोश से भरे रहे। उन्‍होंने मतदान स्‍थल में घूम-घूमकर अपने प्रत्‍याशियों के समर्थन में नारेबाजी की और उनके लिए अधिवक्‍ताओं से वोट मांगे। प्रत्‍याशी भी वोटर से अपने लिए वोट मांगते रहे। आज सुबह शुरु हुई चुनावी प्रक्रिया में मतदान धीमी गति से चला जो दोपहर के बाद अपनी रफ्तार पकड़ सका। दोपहर दो बजे तक केवल 27 प्रतिशत वोटर ही अपने मताधिकार का प्रयोग कर स‍के थे। एल्‍डर्स कमेटी की देख रेख में आयोजित चुनावी प्रक्रिया में 19 पद के लिए चुनाव होना है जबकि सयुक्‍त मंत्री के लिए एक प्रत्‍याशी को र्निविरोध चुन लिया गया था। आज लॉयर्स एसोसिएशन के चुनाव में अधिवक्‍ताओं को बिना आइडी कार्ड के भीतर जाने की अनुमति नहीं मिली जबकिे पूर्व के चुनावों में ऐसा नहीं देखा गया था। डीसी लॉ कॉलेज प्रागंण के बाहर लगे सात बूथ शिविरों से मतदाता अपने परिचय पत्र को दिखाकर पर्ची ले जाते तभी उन्‍हें वोट देने के लिए बैलट पेपर उपलब्‍ध कराया जा रहा था। बताते चलें कि लॉयर्स एसोसिएशन के चुनाव में 65 प्रत्‍याशी अपने भाग्‍य की आजमाइश कर रहे हैं।
दोपहर के बाद अधिवक्‍ताओं की लंबी लाइन के चलते पर्ची न बन पाने से उत्‍तेजित अधिवक्‍ताओं ने लॉयर्स एसोसिएशन के चुनाव को छात्र संघ के चुनाव जैसा ही बना दिया। अधिवक्‍ताओं की एल्‍डर्स कमेटी के पदाधिकारियों से तीखी झड़पे भी हुई। ऐसा माना जा रहा है कि वार्षिक चुनाव को रदद किया जा सकता है। एल्‍डर्स कमेटी की चुनाव समिति ने उसमें धांधली की आंशका के मददे नजर चुनाव को रुकवा दिया। कुछ प्रत्‍याशी एल्‍डर्स कमेटी की चुनाव समिति से लॉयर्स का चुनाव रद्द कराने की मांग कर रहे थे। एल्‍डर्स कमेटी की चुनाव समिति ने इस बार पा‍रदर्शिता के लिए हाईटेक व्‍यवस्‍था के बीच चुनाव करवाने की घोषणा की थी जिसके लिए उन्‍होंने मतदान केन्‍द्र में चार कैमरों के साथ एलईडी स्‍क्रीन लगवाई थी जिससे चुनाव में किसी प्रकार की गड़बड़ी व धांधली को रोकने में सहायता मिल सके। इतना ही नहीं लंच के बाद पर्ची के लिए बनी लम्‍बी लाइन के कारण अधिवक्‍ताओं ने हो हल्‍ला शुरुकर दिया जिसने बाद में बवाल का रूप धारण कर लिया। बवाल बढ़ता देख पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले को शान्‍त करवाने का प्रयास किया।

Leave a Comment