Pubic aakrorsh

यूपी में हिंसा की घटनाओं के पीछे विरोधियों की राजनीतिक साजिश: रीता बहुगुणा जोशी

Posted by: गोपाल माहेष्वरी Monday 29th of May 2017 09:21:48 AM

उत्तर प्रदेश की केबिनेट मंत्री डाक्टर रीता बहुगुणा जोशी ने भाजपा सरकार के विरोधियों पर हमला बोलते हुए कहा कि यूपी में हाल की हिंसा की बढ़ती घटनाओं के पीछे सरकार विरोधियों की राजनीतिक साजिश है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार के गठन के बाद राज्य में कानून-व्यवस्था में सुधार दिखने लगा था. लेकिन कुछ ही हफ्तों के बाद अचानक से हिंसा की घटनाएं बढ़ने लगी. कानून-व्यवस्था बिगड़ने के पीछे निश्चित रूप से विरोधियों का राजनीतिक षडयंत्र है.

रविवार को एक पांच सितारा होटल में केबिनेट मंत्री डाक्टर जोशी पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रही थीं. पत्रकारों ने उनसे पूछा कि योगी सरकार में भी कानून-व्यवस्था का बुरा हाल क्यों है. इस पर डाक्टर जोशी ने कहा कि योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद राज्य में कानून-व्यवस्था अच्छी थी. लेकिन जो लोग अब सत्ता में नहीं है, शायद उन्हें राज्य में बेहतर हालात पसंद नहीं आए और उनकी राजनीतिक साजिश की वजह से ही कानून-व्यवस्था बिगड़ी है. सहारनपुर की घटनाएं घटी. उन्होंने कहा कि सहारनपुर की घटना प्रायोजित है. मुख्यमंत्री योगी इस घटना पर काफी गंभीर हैं और आने वाले दिनों में हालात सुधर जाएंगे. उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था ठीक रखने के लिए नौकरशाहों और पुलिस के आला अफसरों को भी जिम्मेदारियां दी जा रही हैं.

महिला कल्याण और बाल विकास एवं पर्यटन विभाग सहित चार विभागों को संभालने वाली केबिनेट मंत्री डाक्टर जोशी ने कहा कि महिला अत्याचार को रोकने के लिए राज्य में केंद्र सरकार के आशा ज्योति केंद्र खोले जा रहे हैं. इस समय 17 जिलों में यह केंद्र खोले गए हैं. लेकिन बहुत जल्द ही राज्य के 75 जिलों में यह केंद्र खुल जाएंगे. महिला और बच्चों पर होने वाले अत्याचार की सूचना 181 नंबर पर देने से ही पीडि़त को न्याय दिलाने के लिए इस केंद्र के लोग मदद करेंगे. उन्होंने कहा कि यह केंद्र देश के सभी राज्यों को खोलने चाहिए ताकि देश में कहीं भी महिलाओं और बच्चों पर अत्याचार न हो.

डाक्टर जोशी ने अफसोस जताते हुए कहा कि लिंग अनुपात में उत्तर प्रदेश का स्थान काफी नीचे है. उन्होंने कहा कि दस साल पहले 1000 लड़कों पर 922 लड़कियों का अनुपात था. लेकिन यह घटकर 902 हो गया है. यह शर्मनाक और चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि लड़कियों की संख्या बढ़ाने के लिए मुखबिर योजना को लागू किया जा रहा है. इस योजना के तहत मुखबिर को कम से कम एक लाख रूपए का इनाम मिलता है. उन्होंने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या और गर्भपात पर रोक लगाने के लिए मुखबिर योजना को सफल बनाना है.

उन्होंेने कहा कि उत्तर प्रदेश में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं. लेकिन पिछली सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा दिया जाएगा. पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए रामायण सर्किट, अयोध्या में म्यूजियम, वृंदावन सर्किट (1000 करोड़ रूपए खर्च का बजट), वाराणसी घाट का पुनर्निर्माण और बुद्धा सर्किट (300 करोड़ रूपए खर्च का बजट) बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में गरीबी है. ल्ेकिन वहां पर्यटन की काफी संभावनाएं हैं. बुंदेलखंड को 6 लेन से जोड़ा जा रहा है. उन्होंेने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार के साथ मिलकर बुंदेलखंड को आकर्षक पर्यटन केंद्र बनाया जाएगा.

राहुल गांधी 20 साल में भी कांग्रेस को मजबूत नहीं कर सकेंगे-रीता बहुगुणा जोशी

कई सालों तक कांग्रेस में वरिष्ठ पदों पर रह चुकीं डाक्टर रीता बहुगुणा जोशी पाला बदलते ही कांग्रेस के विरोध में खुलकर बोलने लगी हैं. कांग्रेस से भाजपा में शामिल होकर यूपी में योगी केबिनेट में मंत्री पद पाने के बाद डाक्टर जोशी ने कहा कि आम लोगों का कांग्रेस पर से विश्वास उठ चुका है. नेतृत्व बिखर चुका है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अगले 20 तक में भी कांग्रेस को मजबूत नहीं कर पाएंगे. उन्होंने कहा कि एक परिवार यानी गांधी परिवार के सहारे कांग्रेस को जिंदा नहीं रखा जा सकता है. कांग्रेस एक परिवार की पार्टी नहीं है.

सीएम योगी आदित्यनाथ से भाजपाई उत्तर भारतीय शिकायत करेंगे रीता बहुगुणा जोशी की

कांग्रेस का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल होकर उत्तर प्रदेश सरकार में केबिनेट मंत्री बनने के बाद डाक्टर रीता बहुगुणा जोशी रविवार को पहली बार मुंबई आईं. उनकी पहली मुंबई यात्रा से मुंबई के भाजपाई उत्तर भारतीय नाराज हो गए हैं. भाजपाई उत्तर भारतीयों के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि डाक्टर जोशी भाजपा नेता हैं और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के केबिनेट की वरिष्ठ मंत्री हैं. लेकिन वह मुंबई में कांग्रेसियों के कार्यक्रमों में हिस्सा ले रही हैं. इस संबंध में जब मीडिया ने उनसे सवाल किया तो डाक्टर जोशी ने अपनी सफाई में कहा कि वह किसी पार्टी विशेष के कार्यक्रम में हिस्सा लेने नहीं आई हैं बल्कि उत्तर प्रदेश से जुड़े क्षत्रिय समाज के कार्यक्रमों में भाग ले रही हैं. ये सामाजिक संगठन हैं न कि राजनीतिक. उन्होंने कहा कि मुंबई में भाजपा के कई नेताओं से उनकी मुलाकात हुई है और उन नेताओं ने उनका सम्मान भी किया है.

इधर मुंबई भाजपा के एक महासचिव ने फोन पर बताया कि डाक्टर जोशी जिन कार्यक्रमों में हिस्सा ले रही हैं उन कार्यक्रमों का आयोजन कांग्रेस के नेता कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि डाक्टर जोशी का अब भी कांग्रेस प्रेम खत्म नहीं हुआ है जिससे वह उनके कार्यक्रमों की शोभा बढ़ा रही हैं. उन्होंने यह भी कहा कि डाक्टर जोशी मिरा-भायंदर के एक कार्यक्रम में भाग ले रही हैं. उनके इस कार्यक्रम में भाग लेने से वहां के उत्तर भारतीय समाज पर गलत संदेश जाएगा. क्योंकि, अगस्त महीने में मिरा-भायंदर महापालिका का चुनाव होने वाला है. इसलिए डाक्टर जोशी ने अगर पहले से मुंबई के भाजपाई उत्तर भारतीय नेताओं से चर्चा करतीं तो वह उस कार्यक्रम में हिस्सा लेने से बचतीं.

Leave a Comment