नौकरी बचाने के लिए PM का टीटीएम कर रहे हैं केंद्रीय मंत्री :लालू

Posted by: राधिका प्रकाश Friday 23rd of December 2016 07:57:45 AM

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा है कि देश की जनता नोटबंदी से त्रस्त है. खेतीबारी से लेकर कल-कारखाना तक तबाह हो गया है. इसके विरोध में राजद बड़ा आंदोलन करेगा. आंदाेलन की आंधी में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार उड़ जायेगी. गुरुवार को  10, सर्कुलर रोड स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत में लालू प्रसाद ने कहा कि राजद ने नोटबंदी के खिलाफ आंदोलन का एलान कर दिया है. अब इसे तेज करने के लिए वे पूरे राज्य का दौरा करेंगे.

रैली की तैयारी और तिथि महाधरना के बाद कर लिया जायेगा. पार्टी की ओर से 28 दिसंबर को पूरे प्रदेश में धरना दिया जायेगा. राजधानी में दिये जाने वाले धरना में लालू प्रसाद भी शामिल होंगे. राजद अध्यक्ष ने कहा कि धरना के बाद आंदोलन आरंभ किया जायेगा. आंदोलन में नोटबंदी का विरोध करने वाले सभी  दलों को शामिल किया जायेगा. इसके लिए वे जदयू अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और वामपंथी दलों को आमंत्रित करेंगे.

अमित शाह के सहकारिता बैंक में कैसे जमा हुआ पांच सौ करोड़ उन्होंने कहा कि भाजपा और अमित शाह को जवाब देना होगा कि अमित शाह के सहकारिता बैंक में नोटबंदी की घोषणा की रात में पांच सौ करोड़ रुपये कैसे जमा हुआ. कालाधन नक्सली और आतंकी के बजाय भाजपा वालों के घरों से निकल रहा है. 

प्रसाद ने कहा कि राम विलास पासवान, राजीव प्रताप रूडी और मेरा असिस्टेंट सेक्रेटरी रह चुके रविशंकर प्रसाद नौकरी बचाने के लिए पीएम की आेर से जवाब दे रहे हैं. इसे टीटीएम बताते हुए कहा कि इसका पूरा मतलब ताबड़ तोड़ तेल मालिश है. भाजपा के साथ नहीं जायेंगे   नीतीश कुमार : राजद सुप्रीमो ने कहा है कि सीएम नीतीश कुमार कभी भाजपा के साथ नहीं जायेंगे. भाजपा से नीतीश कुमार के करीब होने संबंधी सवालों को उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया. 

लालू ने कहा कि यह आशंका बिल्कुल गलत है. महागंठबंधन में चट्टानी एकता है. बिल्कुल अंगूठे की निशान थंब इंप्रेशन की तरह महागंठबंधन में सब कुछ साफ है. हमलोगों के बीच कोई गलतफहमी नहीं है. भाजपा वाले दुष्प्रचार कर नीतीश कुमार के इमेज को खराब कर रहे हैं. लालू प्रसाद ने कहा कि नोटबंदी के सवाल पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पूरी तरह से हमारे साथ हैं. केंद्र सरकार की कैशलेस योजना का वे विरोध कर चुके हैं. इस मुद्दे पर नोटबंदी के50 दिनों के बाद वे पार्टी में विमर्श के बाद निर्णय लेंगे. आंदोलन शुरू होने में अभी देर है.

Leave a Comment