सपा,कांग्रेस गठबंधन पर CM अखिलेश यादव ने दिया बड़ा बयान

Posted by: राधिका प्रकाश Monday 5th of December 2016 08:27:22 AM

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस गठबंधन उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में 300 सीट जीतने का दावा भले ही किया है लेकिन चुनाव पूर्व आपसी गठबंधन होना अभी असमंजस की स्थिति में है। प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दिल्ली में पिछले दिनों दिए गए एक बयान में कहा था कि सपा और कांग्रेस में चुनाव पूर्व गठबंधन हो सकता है। यदि ऐसा हुआ तो दोनों मिलकर विधानसभा की 300 सीटों पर जीत दर्ज करने से उन्हें कोई रोक नहीं पाएगा।

उन्होंने कहा कि आपसी गठबंधन के लिए सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ही फैसला लेंगे। सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने यहां कहा था कि कांग्रेस के साथ गठबंधन पार्टी को दोबारा सत्ता में आने से कोई रोक नहीं पाएगा। वहीं दूसरी ओर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने सपा के साथ किसी प्रकार गठबंधन से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी इस महीने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी करेगी।

भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने दोनों पार्टियों को नाटक करार देते हुए इसकी निंदा की है। कांग्रेस और सपा में आपसी समझौता परदे के पीछे हो रहा है। भाजपा प्रदेश महासचिक विजय बहादुर पाठक ने यहां कहा कि दोनों पार्टियां अपने कार्यकर्त्ता को क्यों संसय में रख रही हैं यह समझ से परे है। भाजपा पहले ही कह चुकी है कि कांग्रेस अब प्रदेश में सपा की बी टीम है।

पाठक ने कहा कि यदि दोनों में कोई समझौता नहीं हुआ है तो कांग्रेस दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को क्यों मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजक्ट करती। यह एक सोची समझी चाल है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी तथा अन्य नेताओं ने किसान यात्रा के दौरान प्रदेश सरकार के खिलाफ कुछ नहीं बोला और सपा के प्रति हमेशा नरम रूख अख्तियार किया। भाजपा नेता ने दावा किया है कि कांग्रेस चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने गांधी परिवार के प्रतिनिधि के रूप में चुनाव पूर्व गठबंधन के लिए सपा नेताओं से मुलाकात की।

Leave a Comment